Rashmi Singh1, Dr. Radha Pandey2

1 S.O.S. in Economics Pt. R.S.U. Raipur,Chhattisgarh, India

2Govt. C.L.C. Arts & Science Collage, Patan,Chhattisgarh, India

संदर्भः-
प्रस्तुत शोध का मुख्य उद्देष्य रायपुर जिले के मछुआरा परिवारों की गरीबी एवं कार्य के प्रति संतुष्टि का विश्लेषण करना है। प्राथमिक आकड़ें का संकलन रायपुर जिले के 300 मछुआरों पर किये गयें अध्ययन पर आधारित है जो कि जिलें के तीन ब्लाकों (तिल्दा, धरसिंवा, एवं आरंग) में जुन 2010 से सितंबर 2010 के मध्य में व्यक्तिगत सर्वेक्षण कर के किया गया है। सर्वेक्षण में आय, षिक्षा, रोजगार व्यवसाय का स्वरूप, एवं कार्य के प्रति संतुष्टि का स्तर आदि संबंधित आंकड़ों को संम्मिलित किया गया है।विष्लेषण से ज्ञात होता है कि अधिकतर मछुआरे अपने कार्य से संतुष्ट है, जिसमें षिक्षित मछुआरे अषिक्षित मछुआरों से अधिक संतुष्ट एवं संपंन्न पाये गये।
मुख्य शब्दः-कार्य के प्रति संतुष्टि, काई वर्ग परीक्षण, प्रतिव्यक्ति आय, रोजगार, मछुआरें।

पूरा पेपर देखने के लिए क्लिक करें

मछुआरापरिवारों की गरीबी एवं कार्य के प्रति संतुष्टि का विश्लेषण